ये हैं हस्तमैथुन से जुड़े भ्रम, जिसे अब तक आप मानते आएं हैं सच

हस्तमैथुन को लेकर लोगों में कई भ्रांतियां हैं। कुछ लोग इसे नुकसान पहुंचाना वाला मानते हैं जबकि कुछ लोगों की मानें तो इससे शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। कुछ लोगों का मानना है कि हस्तमैथुन से शरीर को नुकसान पहुंचता या फिर लिंग में पतलापन आता है। एक राय यह भी है कि हस्तमैथुन से शरीर में किसी भी तरह की कमजोरी नहीं आती।

भ्रम- हस्तमैथुन एक अप्राकृतिक क्रिया।
सत्य- हस्तमैथुन को लेकर पहला सवाल तो यही उठता है कि यह एक अप्राकृतिक क्रिया है। मगर चिकित्सकीय दृष्टि से देखें तो यह एक सामान्य प्राकृतिक क्रिया है। हस्तमैथुन एक सामान्य क्रिया है अत: इसके हानिकारक या लाभदायक होने का प्रश्न ही नहीं उठता है। हस्तमैथुन पुरुष, स्त्री व जानवर तक करते हैं। यह एक सामान्य प्रक्रिया है।



भ्रम- कम उम्र में हस्तमैथुन करने से आती है नपुंसकता।
सत्य- ऐसा भी भ्रम है कि हस्तमैथुन अगर कम उम्र (बचपन या किशोरावस्था) में किया जाए तो व्यक्ति कमजोर अथवा नपुंसक हो जाता है। हकीकत में हस्तमैथुन किसी भी उम्र में और किसी भी तरीके से किया जाए, इसका व्यक्ति के शरीर, सहवास क्षमता अथवा प्रजनन क्षमता पर कोई असर नहीं पड़ता। आगे पढ़े …

Related Post